22 Sep 2012

कोई भी विदेशी शराब १०० रुपये की एक बोतल

मैंने रात को एक सपना देखा...

एक पाउच पेट्रोल १०० रुपये का
गैस सिलिंडर ५००० रुपये का
एक पाउच डीजल ८० रुपये का
१ लिटर दूध ५०० रुपये का
१ प्याज १५० रुपये का
१ आलू १२० रुपये का
हरी सब्जी देखने का केवल २०० रुपये
गाँव ख़तम हो गया मेरा साथ ही और सारे गाँव भी और गाँव वाले भी और मेरे गाँव में केवल विदेशी भरे हैं 
देश में भारतीय किसान नहीं बचा कोई
भारत अब गांवों और किसानों का देश नहीं बल्कि माल और विदेशियों का देश बन गया है

=================
मैं तो पूरा घबडा गया...लेकिन तभी मैंने आगे देखा की
=================

मेरे घर के बगल वाली किराना स्टोर पर सरदार जी के जगह एक मस्त अंग्रेजन है छोटे कपड़ों में
कोई भी विदेशी शराब १०० रुपये की एक बोतल
किसी भी वाल-मार्ट या विदेशी स्टोर जाने के लिए घर के सामने एसी गाड़ी खड़ी है
नेस्ले का चोकलेट १०० रुपये किलो
विदेशी दूध घर पहुँचाया जायेगा किसी सुन्दर विदेशी कम कपड़ों वाली बाला से १०० रुपये लीटर
हरी सब्जियां आप जो कहिये वो उपलब्ध है विदेशी मिटटी के साथ १०० रुपये किलो
बगल वाले खेत में एक सुन्दर बाला अपने गोरे मित्र (जो उसका पति नहीं है) के साथ प्यार करते हुए ट्रैक्टर चला कर खेत जोत रही है
गाँव अब शहर बन चुके हैं
देश की प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति अमेरिका और बाकि के बाहरी देशों से आ रहे हैं

=================

अब इतना कुछ तो मिल रहा है इस FDI से. फिर कहें लोग इसका विरोध करने में लगे हैं ये समझ से परे है. भाई हमारी मौजूदा सरकार हमें इतनी सहूलियत दे रही है की हम हर काम में एक कम कपड़ों वाली विदेशी बाला के दर्शन करते रहें. साथ ही केवल और केवल विदेशी चीजें हम खाएं और पियें, पहने और पहनाएं.

अब हम बहुत कुछ सीखेंगे क्यूंकि हर काम यहाँ तक की मुख्य मंत्री, प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति भी FDI के जरिये आ रहा है भारत में. केवल चपरासी, मंत्री और विधायक ही भारतीय होंगे लेकिन उनको बोलने का कोई हक़ नहीं बल्कि केवल हाँ और ना में सर हिलाएंगे.

बोलो FDI और इसकी माता की जय



3 comments:

  1. I dont believe this....how did they get into india and start changing india so fast? This is not possible.....to enter western countries you need to go through immigration process only if there is a need for you....and this in India? And the PM says we have very closed borders....what the hell is he talking about?

    I guess we forgot all gandhiji's teachings in just 60 years....interesting....what is there to see in India now?

    Madhu

    ReplyDelete
  2. This is about to happen in India.....as per gandhi's preaching....all the problems is being started from him and his master Nehru

    ReplyDelete